ग़म ना होने Gham Na Hone Lyrics in Hindi – Sukoon (Rashid Khan)

|


Gham Na Hone Lyrics in Hindi sung by Rashid Khan from Sanjay Leela Bhansali’s first-ever original music album Sukoon (2022). The song is written by A.M. Turaz and music composed by Sanjay Leela Bhansali.

Gham Na Hone Song Details

Gham Na Hone Lyrics in Hindi – A.M. Turaz

ग़म न होने का कोई जश्न मनाएँ कैसे?
ग़म न होने का कोई जश्न मनाएँ कैसे?
याद आते ही नहीं तुम तो भुलाएँ कैसे?
ग़म न होने का कोई जश्न मनाएँ कैसे?

प धा सा रे रे सा नि सा सा प् ग रे सा
सा रे ग प् ध ध नि ध म ध म ग रे ग

थक के सो जाती है हर रात सुलाने में जिन्हें
थक के सो जाती है हर रात सुलाने में जिन्हें

ऐसी आँखों को सुलाएँ तो सुलाएँ कैसे?
याद आते ही नहीं तुम तो भुलाएँ कैसे?
ग़म न होने का कोई जश्न मनाएँ कैसे?

जिसके हर शहर में होता है तज़्किरा उनका
जिसके हर शहर में होता है तज़्किरा उनका

वो ग़ज़ल आपकी महफ़िल में सुनाएँ कैसे?
ग़म न होने का कोई जश्न मनाएँ कैसे?

जिस्म महका है तेरी ख़ुशबुओं में ऐ तुराज़
जिस्म महका है तेरी ख़ुशबुओं में ऐ तुराज़

वस्ल हम तेरा ज़माने से छुपाएँ कैसे?
याद आते ही नहीं तुम तो भुलाएँ कैसे?
ग़म न होने का कोई जश्न

More Ghazals from Sukoon album:
ग़ालिब होना है Ghalib Hona Hai
तुझे भी चाँद Tujhe Bhi Chand
दर्द पत्थरों को Dard Pattharon Ko
क़रार Qaraar
ग़म ना होने Gham Na Hone
सिवा तेरे Siva Tere (Male)
सिवा तेरे Siva Tere (Female)
हर एक बात Har Ek Baat
मुस्कुराहट Muskurahat – Reprise

Gham Na Hone Lyrics in English

Gham na hone ka koi jashn manayein kaise?
Gham na hone ka koi jashn manayein kaise?
Yaad aate hi nahi tum toh bhulayein kaise?
Gham na hone ka koi jashn manayein kaise?

Thak ke so jaati hai har raat sulaane mein jinhein
Thak ke so jaati hai har raat sulaane mein jinhein

Aisi aankhon ko sulayein toh sulayein kaise?
Yaad aate hi nahi tum toh bhulayein kaise?
Gham na hone ka koi jashn manayein kaise?

Jiske har sheher mein hota hai tazkira unka
Jiske har sheher mein hota hai tazkira unka

Woh ghazal aapki mehfil mein sunayein kaise?
Gham na hone ka koi jashn manayein kaise?

Jism mehka hai teri khushbuon mein, ae Turaz
Jism mehka hai teri khushbuon mein, ae Turaz

Wasl hum tera zamaane se chhupayein kaise?
Yaad aate hi nahi tum toh bhulayein kaise?
Gham na hone ka koi jashn

Song Credits:
Song: Gham Na Hone
Singer: Rashid Khan
Music Director: Sanjay Leela Bhansali
Lyricist: A.M. Turaz
Music Arranged by: Raja Pandit
Music Programmed by: Rajesh Rathod & Kunal Pandit
Santoor: Prashant Salil
Tabla: Prashant Sonagra
Harmonium: Pradeep Pandit
Violin: Kailash Patra
Guitar: Shomu Seal
Bass Guitar: Manas Chowdhary

Share this post with your Friends & Family:

Leave a Comment

%d bloggers like this: